सरिता विशेष

‘‘श्रृद्धांजली’’ व ‘‘गदरः एक प्रेम कथा’’ सहित कई सफल फिल्मों के मशहूर फिल्मकार अनिल शर्मा इन दिनों काफी खुश हैं. उन्हें लगता है कि उन्होने एक पिता का धर्म निभाते हुए अपने बेटे को किसी भी सभा में पहली पंक्ति में बैठने लायक बना दिया है. अपनी इस खुशी को बांटने के लिए अपने जन्मदिन सात मार्च को मुंबई में जुहू स्थित पांच सितारा होटल ‘‘नोवाटेल’’ में उन्होने शानदार जश्न का आयोजन कर डाला. अनिल शर्मा के इस जश्न का मकसद अपना जन्म दिन मनाने के साथ ही अपनी नई फिल्म ‘‘जीनियस’’ की शूटिंग पूरी होने का ऐलान करने के साथ ही फिल्म के हीरो/नायक व अपने बेटे उत्कर्ष शर्मा के बौलीवुड में प्रवेश करने के ऐलान करने के साथ ही फिल्म की नायिका/हीरोईन से लोगो को परिचित कराना भी था.

इस शानदार जश्नरूपी समारोह में आम लोगों से उत्कर्ष शर्मा को परिचित कराने की जिम्मेदारी निभायी अभिनेता सनी देओल ने यूं तो जब उत्कर्ष महज सात वर्ष के थे, तब उन्होंने अपने पिता अनिल शर्मा के ही निर्देशन में फिल्म ‘‘गदरः एक प्रेम कथा’’ में सनी देओल के बेटे जीत का किरदार निभाया था. पर इस बात को सत्रह वर्ष बीत चुके हैं. इन सत्रह वर्षों में उत्कर्ष शर्मा न सिर्फ बड़े हो चुके हैं, बल्कि अभिनय की बारीकी भी सीख चुके हैं.

एक युवा प्रेम कहानी प्रधान, जिसमें भरपूर एक्शन व रोमांच है, को आधुनिक तकनीक के साथ फिल्माया गया है. फिल्म की टैग लाइन है- ‘‘दिल की लड़ाई दिमाग से’’.

bollywood

फिल्म ‘‘जीनियस’’ के निर्माता, लेखक व निर्देशक अनिल शर्मा ने सबसे पहले सभी का स्वागत करते हुए कहा- ‘‘मेरे लिए खुशी का दिन है कि मैं अपने बेटे उत्कर्ष शर्मा को बतौर हीरो बौलीवुड में लौंच कर रहा हूं. मैने अपनी इस फिल्म ‘जीनियस’की शूटिंग की शुरूआत अपने बेटे उत्कर्ष के जन्मदिन यानी कि 22 मई को की थी और आज पूरे चार माह बाद मैं अपने जन्म दिन पर फिल्म की शूटिंग पूरी होने का ऐलान कर रहा हूं.

यह एक संयोग है कि बेटे के जन्म दिन पर फिल्म शुरू हुई थी और मेरे जन्म दिन पर फिल्म पूरी हो गयी. हमारी फिल्म के निर्माण के साथ जुड़ने के लिए मैं सोहम रौकस्टार, कमल मुकुट व दीपक मुकुट का आभारी हूं. इसी के साथ मैं अपनी फिल्म की पूरी टीम का भी आभारी हूं.’’

फिल्म ‘‘गदर एक प्रेमकथा’’ के क्लायमैक्स में तारा सिंह (सनी देओल) अपने बेटे जीत (उत्कर्ष शर्मा) को अपनी गोद में लेकर भागते हुए नजर आते हैं. अब सत्रह वर्ष बाद नोवाटेल के खास हाल में फिल्मी हस्तियो की मौजूदगी में सनी देओल, उत्कर्ष का हाथ पकड़कर मंच पर लेकर गए और लोगों से उत्कर्ष का परिचय कराते हुए ‘गदरःएक प्रेम कथा’ की शूटिंग के दौरान की कुछ घटनाओं का भी जिक्र किया.

इस अवसर पर उत्कर्ष शर्मा ने कहा कि,‘‘उस वक्त मैं बहुत छोटा था. मगर मैने सेट पर सनी देओले जी को काम करते हुए देखकर बहुत कुछ सीखा था. और वह सीख फिल्म ‘जीनियस’ करते समय मेरे काम आयी. बचपन में मैने देखा था कि सनी जी सेट पर अपने किरदार व फिल्म के दृश्यों को लेकर मेरे पापा से कितनी बहस करते थे. मैने भी वही किया. इससे फिल्म अच्छी बनी. हर रचनात्मक काम में जितनी अधिक बहस होती है, काम उतना ही अच्छा होता है.’’

bollywood

इस पर अनिल शर्मा ने कहा – ‘‘सेट पर कई बार मुझे लगता था कि यह मेरा बेटा नहीं, बल्कि खुद सनी देओल आकर मुझसे बात कर रहे हैं. उत्कर्ष के सवाल करने का अंदाज बिलकुल सनी जैसा होता था.’’

उसके बाद अनिल शर्मा ने खुद फिल्म की हीरोईन इशिता चैहाण को मंच पर बुलाकर लोगों से परिचित कराया. अनिल शर्मा ने कहा- ‘‘हमने अपनी फिल्म की नायिका की तलाश में पूरा एक वर्ष लगा. हमने वेबसाइट बनाकर भी कलाकारों का आव्हान किया था. अंततः हमें पुणे की रहने वाली इशिता चैहाण मिली. इशिता खूबसूरत हैं और इनका भोला भाला चेहरा हमारी फिल्म ‘जीनियस’ के किरदार के लिए एकदम उपयुक्त लगा.’’

फिल्म ‘‘जीनियस’’ में इशिता चैहाण की मां के किरदार को निभाकर आयशा जुल्का ने पूरे सात वर्ष बाद फिल्मी परदे पर वापसी की है.

इस अवसर पर अनिल शमो के पिता के सी शर्मा, कमल मुकुट, दीपक मुकुट, सनी देओल, बौबी देओल, सावन कुमार टौक, नवाजुद्दीन सिद्दिकी, अरूणा ईरानी, चंपक जैन, हिमेश रेशमिया, सुमन शर्मा, डी जे शेजवुड, सब्बीर अहमद, बिजौन दास गुप्ता सहित कई हस्तियां मौजूद थीं.