सरिता विशेष

शनिवार, 24 फरवरी को देर रात दुबई के होटल में बाथरूम के अंदर गिरने के बाद अभिनेत्री श्रीदेवी की मौत हो गयी थी. उस वक्त खबर आयी थी कि उनकी मौत हृदय गति रूक जाने से हुई. लेकिन श्रीदेवी के पारिवारिक सदस्यों को उनके पार्थिव शरीर के मिलने में होती रही देरी के चलते मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म रहा. कई तरह की शंकाएं व्यक्त की जाती रही थी.

उधर दुबई में दुबई पुलिस व डौक्टर अपने हिसाब से जांच करते रहे. श्रीदेवी के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम किया गया. फोरेंसिक रिपोर्ट करायी गयी और अंततः सोमवार, 26 फरवरी को शाम साढ़े चार बजे दुबई पुलिस ने यूएई स्थित भारतीय दूतावास को श्रीदेवी का मृत्यु प्रमाणपत्र सौंपा.

bollywood

दुबई स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी इस मृत्यु प्रमाण पत्र में दुघर्टनावश डूबने से हुई मौत वजह बतायी गयी है. यानी कि इस प्रमाण पत्र के अनुसार श्रीदेवी की मौत हृदयगति रूकने से नहीं, बल्कि बाथटब के पानी में डूबने से हुई. जिसे वहां की पुलिस ने दुर्घटना माना और किसी भी तरह की आपराधिक संभावनाओं से इंकार कर दिया.

सूत्र बता रहे हैं कि श्रीदेवी के खून की जांच भी की गयी, जिसमें अल्कोहल पाया गया. इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि श्रीदेवी नशे की हालत में बाथरूम के अंदर गईं और अचानक वह बाथटब के अंदर गिर गईं. पानी उनके शरीर के अंदर चला गया, उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई और उनकी मौत हो गई.

यूएई में भारतीय उच्चायुक्त ने एक समाचार चैनल को आज शाम साढ़े चार बजे बताया कि अभी दो तीन विभागों से कुछ मंजूरी मिलनी बाकी है. यह सब होने में करीबन चार से पांच घंटे का समय लगेगा. यानी कि श्रीदेवी का पार्थिव शरीर चार्टेड प्लेन से देर रात ही दुबई से रवाना होगा. इससे यह बात साफ हो गयी कि अब श्रीदेवी का अंतिम संस्कार मुंबई में मंगलवार को ही हो पाएगा.