सरिता विशेष

क्या टाइगर श्रौफ अपने आपको सुपर स्टार समझने लगे हैं कि अब उन्हे अपने प्रशंसकों को धोखा देने में भी कोई हिचक नहीं हो रही है? जी हां, इस तरह के सवाल टाइगर श्रौफ के तमाम प्रशंसक उनसे पूछ रहे हैं. वास्तव में जब फिल्म ‘‘बागी 2’’ की शुरूआत हुई थी, उसी वक्त टाइगर श्रौफ एक प्रोडक्ट को इंडोर्स कर रहे थे.

उस प्रोडक्ट का निर्माण करने वाली कंपनी ने फेसबुक के माध्यम से एक प्रतियोगिता की घोषणा की थी और विजेताओं को टाइगर श्रौफ के साथ दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन शहर घुमाने ले जाने का वादा किया था. इस कंपनी ने फेसबुक पर यह भी लिखा था कि प्रशंसक यह भी बता सकते हैं कि वह केप टाउन शहर में क्या क्या करना चाहेंगे, उनकी वह इच्छाएं भी पूरी होंगी.

BOLLYWOOD

सूत्र बताते हैं कि टाइगर श्रौफ के तमाम प्रशंसकों ने बढ़चढ़कर इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया. लेकिन अब टाइगर श्रौफ ने केप टाउन जाने से मना कर दिया है. सूत्रों की माने तो अंडरविअर बनाने वाली कंपनी ने एक वर्ष पहले टाइगर श्रौफ की सहमति लेकर यह प्रतियोगिता शुरू की थी. सूत्र यह भी बताते हैं कि जनवरी 2018 में जब आयोजकों ने टाइगर श्रौफ से बात की, तब भी टाइगर श्रौफ केप टाउन जाने को तैयार थे और उस वक्त उनका मकसद केपटाउन में अपनी फिल्म ‘‘बागी 2’’ को प्रमोट करना भी था.

BOLLYWOOD

मगर सूत्रों का दावा है कि जब मार्च के पहले सप्ताह में आयोजकों ने टाइगर श्रौफ से मिलकर केप टाउन जाने की तारीख तय करनी चाही,तो टाइगर श्रौफ ने शर्त रखी कि उनके साथ छह लोगों की टीम भी जाएगी, जिसका सारा खर्च आयोजक उठाएं. आयोजकों ने टाइगर श्रौफ के साथ एक व्यक्ति को ले जाने की टिकट व अन्य खर्च देने को तैयार थे. मगर टाइगर श्रौफ ने कह दिया कि जब तक आयोजक उन्हें छह लोगों की टीम का खर्च नहीं उठाएगी, तब तक वह केप टाउन नहीं जाएंगे. अंततः अब कंपनी ने फेसबुक पर लिखा है – ‘‘विजेता केप टाउन जाएंगे, लेकिन टाइगर श्रौफ के साथ मेल मिलाप मुंबई में ही होगा.’’

पर इससे टाइगर श्रौफ के प्रशंसक जरुर निराश हुए हैं.