मशहूर ईरानियन फिल्मकार मजीद मजीदी ने पहली बार अपने देश ईरान को छोड़कर भारत और वह भी मुंबई में भारतीय कलाकारों व तकनीशियनों के संग फिल्म ‘‘बियांड द क्लाउड’’ का निर्माण व निर्देशन किया है. इस फिल्म से पहली बार ईशान खट्टर सिनेमा में और मालविका मोहन पहली बार बौलीवुड में कदम रख रही हैं.

मुंबई की झोपड़पट्टियों में फिल्मायी गयी फिल्म ‘‘बियांड द कलाउड’’ की कहानी के केंद्र में बचपन में ही अनाथ हो चुके एक उन्नीस वर्ष के लड़के आमीर (ईशान खट्टर) और उसकी बहन तारा (मालविका मोहन) है. आमीर ड्रग्स के अवैध धंधे से जुड़ा हुआ है क्योंकि उसे रातों रात बहुत बड़ा इंसान बनना है.

तारा अपने भाई को हर मुसीबत से बचाने के लिए प्रयत्नशील रहती है. पर एक दिन पुलिस तारा को ही गिरफ्तार कर जेल में डाल देती है. कुछ दिन में ही तारा को अहसास हो जाता है कि वह जेल की काल कोठरी में मरना नहीं चाहती. पर उनकी जिंदगी की रोशनी पर तो बादल छाए हुए हैं.

इस फिल्म का ट्रेलर मुंबई में 28 जनवरी को रिलीज किया गया. इस खास अवसर पर फिल्म के निर्देशक मजीद मजीदी, संगीतकार ए आर रहमान के साथ ही फिल्म के कलाकार ईशान खट्टर, मालविका मोहन और गौतम घोष भी मौजूद थे.