सरिता विशेष

लखनऊ की आकांक्षा अवस्थी को जीवन में चैलेंज लेना बहुत पसंद है. आकांक्षा ने लखनऊ के भातखंडे संगीत विद्यालय से म्यूजिक की शिक्षा ली, लेकिन म्यूजिक से अधिक लोगों को उन का अभिनय पसंद आने लगा. आकांक्षा को भी लगा कि वे ऐक्टिंग में कैरियर बना सकती हैं.

आकांक्षा ने मुंबई जा कर प्रयास करना शुरू किया. कुछ ही सालों में आकांक्षा ने अलगअलग चैनलों के लिए 12 से अधिक टीवी सीरियलों में काम किया. इन में ‘घर की लक्ष्मी,’ ‘इश्क में मर जांवा’, ‘डोली सजा के रखना’, ‘राजा की आएगी बरात’ और ‘उतरन’ जैसे नाम प्रमुख हैं.

‘उतरन’ से उन को घरघर में पहचान मिली. टीवी सीरियलों की दुनिया से निकल कर अचानक आकांक्षा ने भोजपुरी फिल्म ‘दबंग सरकार’ में हीरोइन की भूमिका स्वीकार कर ली. सीरियलों से भोजपुरी फिल्म की ओर क्यों? ऐसे कई सवालों को ले कर आकांक्षा के साथ खास बातचीत हुई. पेश हैं प्रमुख अंश :

टीवी सीरियलों से अचानक भोजपुरी फिल्मों का रुख कैसे किया?

काफी सोचविचार के बाद भोजपुरी फिल्म ‘दबंग सरकार’ में काम करने का फैसला लिया. इस फिल्म को स्वीकार करने के पीछे प्रमुख वजह यह है कि मुझे चैलेंज लेने की बहुत आदत है. मैं म्यूजिक सीखने के बाद ऐक्ंिटग करने लगी, यह भी उसी का हिस्सा था.

‘दबंग सरकार’ को बनाने वाले निर्देशक योगेश राज मिश्रा, प्रोड्यूसर राहुल वोहरा और दीपक कुमार ने मुझे बताया कि वे भोजपुरी फिल्मों में चल रहे ट्रैंड से कुछ अलग हट कर एक फिल्म बना रहे हैं. इस फिल्म में गाने, डांस और कहानी के बीच संतुलन देखने को मिलेगा.

फिल्म को लखनऊ में शूट किया जाएगा. ऐसे में मुझे अपने शहर में काम करने का मौका मिल रहा था. मैं ने भोजपुरी फिल्मों के बारे में बहुत सुना था. मुझे लगा कि जिंदगी में यह चैलेंज भी ले कर देखना चाहिए. काफी सोचविचार कर मैं ने इस फिल्म के लिए हामी भर दी.

क्या कुछ तैयारी की इस के लिए?

सब से पहले तो यह परेशानी थी कि मैं ने कभी भोजपुरी फिल्म नहीं देखी थी. मैं ने भोजपुरी फिल्में देखीं. उन के गाने सुने. ‘दबंग सरकार’ में मेरे हीरो खेसारीलाल हैं. उन के बारे में पता था कि वे भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार हैं. एक डर सा मन में बैठ गया कि पता नहीं कैसा व्यवहार होगा उन का. भोजपुरी फिल्मों के गाने, उन का फिल्मांकन देख मुझे थोड़ा डर लगा कि मेरी इमेज खराब न हो. चैलेंज लेने के अपने स्वभाव के कारण ही मैं ने ‘दबंग सरकार’ में काम करने की हामी भरी. इस फिल्म में अपने रोल के लिए मुझे अपना वजन 8 से 10 किलो बढ़ाना पड़ा.

भोजपुरी फिल्मों को ले कर आप के मन में जो झिझक या डर था वह खत्म हो गया?

शूटिंग शुरू हुई तो फिल्म के हीरो खेसारीलाल ने मेरी काफी सहायता की. मुझे लगा ही नहीं कि वे इतने बड़े कलाकार हैं. फिल्म के लिए मेरे जो सीन या गाने शूट हुए वे काफी अच्छे लगे. फिल्म में खुलेपन और फूहड़पन को ले कर जिन बातों का डर था वह नहीं दिखा. सीरियलों में हम स्टूडियो में ही शूटिंग करते हैं, लेकिन फिल्म के लिए आउटडोर शूटिंग करनी पड़ी. यह अलग अनुभव था.

आप सीरियल या फिल्मों में कैसे रोल पसंद करती हैं?

एक ऐक्ट्रैस के तौर पर जिस किरदार में मुझे कुछ कर दिखाने का मौका मिलेगा वह मुझे पसंद है. निजी तौर पर मैं कौमिक रोल करना पसंद करती हूं. मुझे लगता है कि किसी को हंसाना सब से अच्छा मनोरंजन होता है. अपने किरदार में कई बार कौमेडी के रंग भरती हूं, पर कौमेडी में यादगार रोल करने का बहुत मन है.

भोजपुरी फिल्मों पर अश्लीलता का ठप्पा लगा है. ऐसे में आप की इमेज को कोई खतरा तो नहीं?

भोजपुरी में अच्छी फिल्में भी बनती हैं लेकिन इन की चर्चा कम होती है. अश्लीलता की चर्चा से कुछ फिल्मों को प्रचार मिलता है. इस कारण यह बात होती है. कलाकार अपना रोल पसंद आने के बाद ही फिल्म करता है. ‘दबंग सरकार’ को करने के बाद मैं दावे से कह सकती हूं कि हर फिल्म अश्लील नहीं होती. इस फिल्म से भोजपुरी फिल्मों को ले कर जो सोच बनी है वह बदल जाएगी. इस फिल्म को करने के बाद मैं वापस सीरियलों में शूटिंग करने जा रही हूं. इमेज पर खतरे वाला कोई रोल हम ने नहीं किया है.

फिल्म और टीवी दोनों में अभिनय अलगअलग हैं?

फिल्म और टीवी दोनों अलगअलग माध्यम हैं. खासकर भोजपुरी फिल्मों को ले कर कहें तो यहां पर परिवार एकसाथ जा कर फिल्में नहीं देख रहे हैं. टीवी सब से ज्यादा परिवार के बीच देखा जाता है. ऐेसे में दोनों माध्यम केवल दर्शक के हिसाब से ही अलग नहीं हैं, इन को बनाने से ले कर प्रोडक्शन हाउस तक अलग होते हैं. फिल्म 2 घंटे में सिमट जाती है जबकि टीवी सीरियल सालों साल चलते हैं. दोनों के दर्शक और महत्त्व अलग हैं. इन को आपस में जोड़ कर नहीं देखा जा सकता.

आप की हौबीज क्या हैं?

म्यूजिक के साथसाथ मुझे कुकिंग का भी बहुत शौक है. जब भी मुझे समय मिलता है कुछ स्वादिष्ठ खाना बनाने का प्रयास करती हूं. वैसे तो कई बार मजबूरी में बेस्वाद खाना ही खाना पड़ता है जिस से वजन न बढ़े. इस फिल्म में वजन बढ़ाया, अब आप के घटाना होगा. नारियल पानी से काफी मदद मिलती है.