इन दिनों भारत क्रिकेट के रंग में डूबा हुआ है. एक तरफ न्यूजीलैंड के साथ भारतीय टीम के क्रिकेट मैच का लोग आनंद ले रहे हैं. तो दूसरी तरफ सिनेमा घरों में मशहूर क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की जिंदगी पर बनी बायोपिक फिल्म ‘एम एस धोनी:अनकही कहानी’ लोगों को आकर्षित कर रही है.

फिल्म ‘‘एम एस धोनीःअनकही कहानी’’ में फिल्मकार नीरज पांडे ने क्रिकेट से ज्यादा महत्व क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की दो प्रेम कहानियों पर ध्यान दिया है. अब सात अक्टूबर को दो क्रिकेटर, एक तैराक व एक टेनिस खिलाड़ी एक साथ मिलकर ‘‘मिर्जा साहिबान’’ पर आधारित रोमांटिक गाथा ‘‘मिर्जिया’’ लेकर आ रहे हैं. मजेदार बात यह है कि ‘‘मिर्जिया’’ में भी दो प्रेम कहानियां समानांतर चलती हैं. एक प्रेमकथा हजारो वर्ष पुरानी मिर्जा साहिबान की है. तो दूसरी कहानी वह है जो कि ‘‘मिर्जा साहिबान’’ की कहानी की गूंज आज के राजस्थान के दो प्रेमियों आदिल व शुचि असर डालती है.

अब यदि आप यह सोचकर परेशान हो रहे होंगे कि फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ का क्रिकेटर या तैराक या टेनिस से क्या संबंध है, तो परेशान होने की बात नहीं है. बल्कि यह कटु सत्य है. मजेदार बात यह है कि इन चारों ने एक दूसरे की जिंदगी पर गहरा असर भी किया है. इतना ही नहीं यह चारों आज भी अपने अपने खेल से जुड़े हुए हैं.

जी हां! ‘‘सरिता’’ पत्रिका आज अपने पाठकों को इसी सच से वाकिफ कराने जा रही है. अब तक लोग इस बात से वाकिफ हो चुके हैं कि गुलजार लिखित पटकथा और राकेष ओमप्रकाश मेहरा निर्देशित फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ में हर्षवर्धन कपूर और सैयामी खेर ने अहम किरदार निभाए हैं और यह चारों न सिर्फ खेल से जुड़े रहे हैं, बल्कि आज भी किसी न किसी रूप में खेलों से जुड़े हुए हैं. फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ के सेट पर शूटिंग के साथ साथ क्रिकेट भी खेला जाता था.

फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ के पटकथा लेखक गुलजार शुरू से ही टेनिस खेलने के शौकीन रहे हैं. वह आज भी टेनिस खेलते हैं. उनकी फिटनेस का राज टेनिस का खेल ही है. जबकि फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ के निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा राष्ट्रीय स्तर के तैराक हैं. राकेश ओप्रकाश मेहरा, गुलजार की लेखनी से काफी प्रभावित हैं और वह गुलजार को अपना गुरू भी मानते हैं.

जबकि फिल्म ‘मिर्जिया’ के हीरो हर्षवर्धन कपूर भी क्रिकेट व फुटबाल खेलते रहे हैं. हर्षवर्धन कपूर ने तो बाकायदा मशहूर क्रिकेटर मोंहिंदर अमरनाथ से क्रिकेट की ट्रेनिंग भी हासिल की है. खुद हर्षवर्धन कपूर ने ‘‘सरिता’’ पत्रिका से बात करते हुए कहा- ‘‘मैंने मोहिन्दर अमरनाथ से क्रिकेट की ट्रेनिंग ली है. मुंबई के खार जिम खाना में मैं उनसे क्रिकेट सीखता था. खार जिम खाना में मैंने कई मैच खेले हैं. इसके अलावा फुटबाल भी खेलता था. जब मैं आठवीं कक्षा में पढ़ता था, तब से फुटबाल खेलना शुरू किया था. अब जबकि शूटिंग नही कर रहा हूं, तो सप्ताह में एक बार फुटबाल खेलने जाता हूं. हां! अब मुझे क्रिकेट या फुटबाल खेलते समय यह देखना पड़ता है कि फिल्म का प्रमोशन या शूटिंग न रूके. मैं और राकेश जी खेल से जुड़े रहे हैं, इसलिए हमारे बीच एक अलग तरह की बांडिंग हो गयी है. मैं तो उनके साथ दुबारा भी काम करना चाहूंगा.’’

तो क्या अब हर्षवर्धन कपूर क्रिकेट या फुटबाल कभी नहीं खेलेंगे? इस पर हषर्वर्धन कपूर ने कहा-‘‘वास्तव में कलाकार के जीवन में बंदिशें ज्यादा आ जाती है. पर मैंने सोचा है कि फिल्म ‘भावेष जोशी’ की शूटिंग पूरी करने के बाद थोड़ा सा अंतराल लेकर क्रिकेट व फुटबाल खेलूंगा. अफसोस की बात है कि हमारे देश में खेलों के लिए सुविधाएं नहीं है. मेरा सपना है कि मैं छुट्टियों में दोस्तों के साथ इंग्लैंड जाउं और वहां क्रिकेट या फुटबाल की ट्रेनिंग लूं. तो हमारा खेल अच्छा हो जाएगा. इसके अलावा जब हम दोस्तों के बीच फुटबाल खेलते हैं, तो उस वक्त हमारे बीच जो बांडिंग होती है, वह कमाल की होती है. पर हम शहरी ज्यादा से ज्यादा किसी होटल में जाकर भोजन कर लिया या फिल्म देख ली. हमारे देश के हर शहर में कई क्रिकेट व फुटबाल के मैदान बनने चाहिए. पर हो यह रहा है कि हर खाली जगह पर सीमेंट की इमारतें खड़ी होती जा रही हैं.’’

तो वहीं फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ की हीरोईन सैयामी खेर भी फुटबाल और क्रिकेट महाराष्ट्र के लिए खेल चुकी हैं. वह तो राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेलने जा रही थी, पर उनके पिता ने मना कर दिया. इस बात को कबूल करते हुए सैयामी खेर ने बताया- ‘‘मेरा पहला प्यार स्पोटर्स है. खेलों में मेरी रूचि अभी भी है. मैंने महाराष्ट् के लिए क्रिकेट खेला है. मेरा राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए भी चयन हो रहा था, मगर मेरे पिताजी ने जाने नहीं दिया. जहां तक अभिनय का सवाल है, तो जब मैं नासिक से मुंबई पढ़ने आयी, तो थिएटर से जुड़ी और थिएटर ने अभिनय के प्रति मेरा लगाव पैदा किया. सेंट जेवियर्स कालेज में मैंने बहुत अभिनय किया है. यह भी सच है कि मैं बचपन से अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थी. जब मैं थिएटर से जुड़ी, तो मुझे समझ में आया कि अभिनय एक ऐसी कला है, जिससे इंसान अपने आपको जान पाता है.’’

इतना ही नहीं मुंबई के खार जिमखाना में रविवार के दिन फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ के निर्देशक राकेश ओम प्रकाश मेहरा, अभिनेत्री सैयामी खेर और राकेश ओमप्रकाश मेहरा के साथ फिल्म ‘दिल्ली6’ में अभिनय कर चुकी अभिनेत्री सोहा अली खान बैडमिंटन खेलते हुए नजर आ जाते हैं. इस पर जब हमने सैयामी खेर से सवाल किया, तो सैयामी खेर ने कहा-‘‘आपको यह बात कैसे पता चली? यह बात बहुत कम लोगों को पता है. पर यह सच हैं कि हर रविवार को हम बैडमिंटन खेलने जाते हैं. हमारे साथ राकेश ओमप्रकाषश मेहरा और सोहा अली खान भी बैडमिंटन खेलती हैं. सोहा अली खान ने राकेश ओमप्रकाश मेहरा के साथ फिल्म ‘रंग दे बसंती’ की थी, इसलिए उनकी भी राकेश जी के साथ अच्छी बांडिंग है. जब आपको यह पता चल गया है, तो आपको यह भी पता होगा कि राकेश जी बहुत अच्छा भोजन पकाते हैं. अक्सर रविवार के दिन बैडमिंटन खेलने के बाद हम लोग उनसे कहते हैं कि अब आप हमें मटन बनाकर खिलाइए.’’

सैयामी खेर आगे कहती हैं-‘‘मैं महाराष्ट्र की टीम के लिए बैडमिंटन खेला करती थी. इसलिए फिल्म ‘मिर्जिया’ के सेट पर मेरे और राकेश सर के बीच जो बांडिंग बनी, उसकी वजह स्पोर्ट्स है. शूटिंग के दौरान समय मिलने पर हम लोग क्रिकेट खेला करते थे. अब शूटिंग खत्म होने के बाद हम लोग हर रविवार को बैडमिंटन खेलते हैं.’’

मजेदार बात यह है कि राकेश ओमप्रकाश मेहरा को बैडमिंटन सैयामी खेर ने ही सिखाया है. जब हमने इस बारे में सैयामी खेर से सवाल किया, तो सैयामी खेर ने कहा-‘‘आपको तो हमारे खेल को लेकर काफी कुछ पता है. आपको पता होना चाहिए कि राकेश ओमप्रकाश मेहरा बहुत अच्छे तैराक हैं. उन्होंने राष्ट्रीय स्तर तक की तैराकी की है. तो वह मुझे वाटर पोलो सिखाते हैं, जिसके बदले में मैं उन्हें बैडमिंटन सिखाती हूं.’’