लगता है कनाडियन पार्न स्टार सनी लियोन के लिए अब भारत से अपना बोरिया बिस्तर बांधने का समय आ गया है. अब भारतीय दर्शक उन्हें किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करना चाहते. पिछले एक वर्ष के अंदर सनी लियोन की प्रदर्शित फिल्मों ‘कुछ कुछ लोचा है’, ‘लव यू आलिया‘, ‘मस्तीजादे’, ‘वन नाइट स्टैंड’ फिल्मों ने बाक्स आफिस पर पानी नहीं मांगा. इसके चलते अब सनी लियोन की कई प्रदर्शन के लिए तैयार फिल्म को वितरक नहीं मिल रहे हैं. यह एक कड़वा सच है.

निर्माता निर्देशक राजीव चौधरी की फिल्म ‘‘बेईमान लव’’ में सनी लियोन और रजनीश दुग्गल की जोड़ी है. यह फिल्म पहले अगस्त माह में प्रदर्शित होनी थी. पर वितरक न मिलने की वजह से नहीं हो पायी. फिर दो सितंबर को प्रदर्शित होने वाली थी, पर वितरकों के हाथ खींच लेने से फिल्म का प्रदर्शन रुक गया था. सूत्रों के अनुसार इसके बाद राजीव चोधरी ने खुद इस फिल्म को प्रदर्शित करने की योजना बनाकर 30 सितंबर की तारीख तय की. लेकिन इस बार तीस सितंबर को भी फिल्म रिलीज नहीं होगी. क्योंकि सूत्रों का दावा है कि इस बार थिएटर मालिकों ने ‘‘बेईमान लव’’ को अपने थिएटर देने से मना कर दिया है.

जब हमने इस बारे में राजीव चौधरी से बात की, तो उन्होंने कहा -‘‘यह सच है कि हम कई समस्याओं से गुजर रहे हैं. हम खुद अपनी फिल्म को रिलीज कर रहे हैं. 30 सितंबर को ‘एम एस धोनी अनटोल्ड स्टोरी’ रिलीज हो रही है, इसी के चलते हमने अपनी फिल्म 14 अक्टूबर को रिलीज करने का फैसला लिया है.’’

पर बौलीवुड के सूत्र दावा कर रहे हैं कि अब भारतीय दर्शकों का सनी लियोन और उनकी पार्न स्टार की ईमेज से मोहभंग हो चुका है. यही वजह है कि अब सनी लियोन नहीं चाहती हैं कि उन पर बनी डाक्यूमेंटरी फिल्म भारत में रिलीज हो. यदि यह डाक्यूमेंटरी भारत में रिलीज हो गयी, तो सनी लियोन की इमेज जरुरत से ज्यादा खराब हो जाएगी और उनके बौलीवुड करियर पर हमेशा के लिए ताला लग जाएगा.