सरिता विशेष

एक टीवी चैनल पर सनी लियोनी के विस्तृत इंटरव्यू के प्रसारण के बाद आमिर खान सहित बालीवुड  की तमाम बड़ी बड़ी हस्तियां सनी लियोनी के पक्ष में खड़ी हो गयी थी. लेकिन दो दिन पहले मुंबई में एक फिल्म के कार्यक्रम में एक विज्ञापन एजेंसी से जुड़े तथा बालीवुड के चर्चित पटकथा व संवाद लेखक प्रसून जोशी ने सनी लियोनी के पेशे की तुलना ड्रग डीलर के साथ करते हुए सनी लियोनी के खिलाफ बहुत कुछ गलत कह डाला.

उस वक्त प्रसून जोशी ने कहा कि उनकी फितरत में नहीं है कि वह सरे आम किसी इंसान का अपमान करें, लेकिन इसके मायने यह भी नहीं है कि वह सनी लियोनी के व्यवसाय के पक्ष में हैं. उस वक्त प्रसून जोशी के बगल में बैठे आमिर खान भी चुप रहे.

मगर दो दिन बाद ही प्रसून जोशी के इस बयान पर जब सनी लियोनी से सवाल किया गया, तो सनी लियोनी ने बड़े भोलेपन के साथ कहा- ‘‘यह प्रसून जोशी कौन हैं? मुझे अब गूगल सर्च में जाकर देखना पड़ेगा कि वह कौन है? उसके बाद ही मैं कुछ कह सकूंगी.’’ कुछ लोग सनी लियोनी के इस जवाब को प्रसून जोशी पर बहुत बड़ा तमाचा मान रहे हैं. गूगल सर्च में सनी लियोनी सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं. कुछ लोग इसे सनी लियोनी की भलमनसाहत की संज्ञा दे रहे हैं. अन्यथा वह भी प्रसून को लेकर गलत शब्दों का उपयोग कर सकती थी?

वास्तव में दो दिन पहले एक फिल्म के कार्यक्रम के दौरान पत्रकार ने आमिर खान का ध्यान उनके उस बयान की ओर दिलाया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि सनी लियोनी चाहेंगी, तो वह सनी लियोनी के साथ फिल्म करना चाहेंगे. इस पर आमिर खान ने कहा था-‘‘जब मैंने सनी जी का इंटरव्यू चैनल पर देखा, तो मुझे बुरा लगा. उनसे जिस तरह के सवाल पूछ जा रहे थे,वह भी मुझे बुरा लगा. उनसे सवाल पूछा गया कि यदि आपको आमिर खान के साथ काम करने का मौका मिला तो करेंगी? शायद उनका जवाब था- नहीं! मुझे यह भी ठीक नहीं लगा. मुझे लगा कि वह ऐसा क्यों कह रही है? मेरा यह मानना है कि यदि कहानी सही हो, किरदार सही हो और उन किरदारों में हम दोनो फिट बैठते हों, तो मुझे कतई समस्या नहीं है उनके साथ काम करने में. उनकी निजी जिंदगी जो है,उससे मेरा कोई लेना देना नहीं है.वह एक इंसान हैं. वह एक औरत हैं. मैं उनकी इज्जत करता हूं’’

आमिर खान की बात पूरी होने से पहले ही प्रसून जोशी ने माइक लेकर सनी लियोनी के खिलाफ अपने विचार रखने शुरू कर दिए. जबकि इस पूरे प्रकरण में किसी भी पत्रकार ने प्रसून जोशी से कोई सवाल नहीं किया था. बहरहाल, प्रसून जोशी ने धाराप्रवाह बोलते हुए कहा-‘‘मैं एक प्वाइंट कहना चाहूंगा कि किसी को कोई प्रोफेशन बहुत अच्छा चलता होगा, उसकी निंदा नहीं करनी चाहिए. हम कलाकार के नाम पर व्यवसाय का बहुत ज्यादा महिमा मंडल करना शुरू कर देते हैं. यह जरुरी नहीं कि किसी के जीवन में जुड़ा व्यवसाय समाज के लिए अच्छा काम कर रहा हो. समाज के लिए किसी न किसी रूप से सकारात्मक होना चाहिए. क्योंकि सवाल उनका उठा है, तो कहना चाहता हूँ कि सनी लियोनी का जो व्यवसाय है,उसकी मैं कतई इज्जत नहीं करता हूं और मैं नहीं चाहूंगा कि उस व्यवसाय से हमारी युवा पीढ़ी प्रेरित हो. लेकिन उसके बारे में किसी व्यक्ति को कटघरे में खड़ा करना किसी भी कलाकार को शोभा नही देता. लेकिन इसका यह मतलब नहीं लगाया जाना चाहिए कि कल को आप कहें कि यह ड्रग डीलर है, यह इसका व्यवसाय है. यह इसका निजी मसला है. हो सकता है कि मैं उसकी इज्जत न करुं. मुझे लगता है कि यह उसका व्यवसाय गलत है. पर जब वह मेरे सामने आएगा, तो क्या मैं उसे बेइज्जत करूंगा, जी नहीं. उसका सम्मान नहीं करुंगा, तो शायद इसके लिए मेरा कल्चर मुझे इजाजत नहीं देगा. लेकिन साथ साथ उस व्यवसाय का महिमा मंडल भी मैं नहीं करूंगा. यदि कोई व्यवसाय समाज के लिए हानिकारक है, तो उसकी आलोचना की जानी चाहिए.’’

दो दिन पहले यानी कि 25 जनवरी को संपन्न एक फिल्म के कार्यक्रम के दौरान फिल्मकार राकेश ओमप्रकाश मेहरा, लेखक कमलेष पांडे, लेखक प्रसून जोशी, वहीदा रहमान, आमिर खान, अतुल कुलकर्णी, शर्मन जोशी, सिद्धार्थ के अलावा कई अन्य लोग मौजूद थे. इस कार्यक्रम की सबसे बड़ी खासियत यह रही कि जब भी पत्रकारों ने आमिर खान से उनके भारत छोड़ने या असहिषणुता के बयान को लेकर सवाल किया, उस सवाल का जवाब आमिर ने भी दिया, पर बीच में आमिर खान की सफाई देने का काम प्रसून जोशी जरुर करते हुए नजर आए. अब वह ऐसा क्यों कर रहे थे, इसकी वजह तो वही ज्यादा बेहतर बता सकते हैं. आखिर वह नामचीन लेखक व कवि भी हैं.