फिल्म ‘‘कहानी 2’’ को बाक्स आफिस पर आपेक्षित सफलता नहीं मिली. जिसके चलते बौलीवुड में चर्चाएं शुरू हो गयी कि क्या सिक्वअल फिल्मों का कोई भविष्य नहीं है? हकीकत में बौलीवुड सिक्वअल फिल्मों के नाम पर जो कुछ परोसा जाता है, वह सिरे से गलत होता है. हमने खुद ‘सरिता’ पत्रिका में इसी जगह लिखा था कि फिल्म ‘कहानी 2’ की असफलता के लिए पूरी तरह से फिल्म के निर्देशक सुजोय घोष ही जिम्मेदार होंगे.

बहरहाल,अब सुजोय घोष ने अपनी गलती मान ली है. सुजोय घोष कहते हैं -‘‘जब हम यह फिल्म बना रहे थे, तो उस वक्त विद्या बालन ने हमें कुछ सलाह दी थी, जिसे मैने नजरंदाज कर दिया था. पर अब मेरी समझ में आ चुका है कि वह सही थी. विद्या बालन का मानना था कि इस फिल्म को ‘कहानी’ की फ्रेंचाइजी के रूप में ‘कहानी 2’ नाम न दिया जाए. पर मैंने उनकी बात को नजरंदाज करते हुए अपनी पिछली फिल्म ‘कहानी’ के साथ इसे जोड़ते हुए उसी की फ्रेंचाइजी के तौर पर ‘कहानी 2’ नाम दिया था. विद्या बालन को संतुष्ट करने के लिए मैंने साथ में दुर्गा रानी सिंह नाम भी जोड़ दिया था. यह मेरी गलती रही.’’

सुजोय घोष ने गलती मान ली. इसकी मुख्य वजह यह है कि सुजोय घोष ने कहानी की सफलता के बाद दुर्गा रानी सिंह की कहानी लिखी थी, जिसमें वह विद्या बालन से अभिनय करवाना चाहते थे. पर अचानक विद्या बालन के साथ उनकी अनबन हो गयी. उसके बाद सुजोय घोष ने इस फिल्म को ऐश्वर्या राय बच्चन से लेकर कंगना रानौट को लेकर बनाने की कोशिश की, पर फिल्म नहीं बन पायी. लगभग चार साल बाद जब पुनः विद्या बालन से उनके संबंध सुधरे, तो उन्होंने दुर्गा रानी सिंह पर फिल्म बनाना शुरू किया. पर अचानक उन्हें लगा कि यदि वह कहानी की सफल फ्रेंचाइजी का उपयोग करेंगे, तो उन्हें इसका फायदा मिलेगा. इसलिए उन्होंने फिल्म की कहानी में फेरबदल कर इसे ‘कहानी 2 – दुर्गा रानी सिंह’ नाम दे दिया.

फिल्म के प्रदर्शन से पहले इस बात को अपरोक्ष रूप से स्वीकार करते हुए सुजोय घोष ने कहा था,‘ दुर्गा रानी सिंह एक अलग कहानी थी. मैंने ‘कहानी 2’ की नई पटकथा लिखी.पर अब दुर्गा रानी सिंह नही बनेगी. क्योंकि दुर्गा रानी सिंह के कुछ हिस्से को मैंने इस फिल्म की कहानी के साथ जोड़ दिया हैं.’’

फिल्म ‘‘कहानी 2’’ की असफलता की सबसे बड़ी वजह यह भी रही कि इस फिल्म में रहस्य रोमांच के नाम पर कुछ भी नही था. जबकि पिछली फिल्म ‘कहानी’ में जबरदस्त रहस्य रोमांच था. उसी फ्रेंचाइजी की फिल्म ‘कहानी 2’ को भी सुजोय घोष ने रहस्य व रोमांच प्रधान फिल्म के रूप में प्रचारित किया. रहस्य रोमांच के शौकीन दर्शक जब थिएटर में गए, तो उन्हें फिल्म में यह कुछ भी नही मिला.

वास्तव में इस फिल्म में बाल यौन शोषण के मुद्दे को उठाया गया है. पर फिल्म के प्रदर्शन से पहले सुजोय घोष ने अपनी जिद के चलते इस मुद्दे को छिपाए रखा. विद्या बालन को भी इस पर कुछ बोलने नही दिया. तभी तो फिल्म के प्रदर्शन के बाद तो दो दिन दर्शक नहीं मिले, तो विद्या बालन ने पत्रकारों से मिलकर बाल यौन षोषण को लेकर लंबी चौड़ी बात की. पर यह सब करने में बहुत देर हो चुकी थी.