उत्कृष्ट अभिनेता ओम पुरी का जीवन हमेशा विवादों में रहा है. अपनी मुंहफट बातों के चलते भी विवादों में घिरते रहे हैं. तो वहीं दो असफल शादियों व एक बेटे के पिता होने के बावजूद वह लंबे समय से अकेले ही जिंदगी जी रहे थे. उन्हे अपने बेटे के भविष्य की चिंता थी, पर  वह कुछ कर नहीं पाए. अब मौत के बाद उनकी मौत भी विवादों में है.

शुक्रवार की सुबह हार्ट अटैक से उनकी मौत की खबर आयी थी. मगर पोस्टमार्टम के बाद उनकी मौत संदिग्ध हो गयी. फिलहाल पुलिस ने दुर्घटनावश मौत का केस दर्ज कर उनका विसरा वगैरह जांच के लिए भेजा. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उनके सिर पर डेढ़ इंच गहरा घाव था. अब खबर आ रही है कि पुलिस को ओमपुरी का मृत शरीर उनके घर के अंदर किचन के दरवाजे पर अर्धनग्न अवस्था में मिला था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ओमपुरी की दूसरी पूर्व पत्नी नंदिता पूरी ने ओमपुरी के ड्रायवर और उनके सेक्रेटरी के अलावा फिल्म निर्माता खालिद किदवई पर आरोपों की झड़ी लगा दी है.

पुलिस ने फिल्म निर्माता खालिद किदवई से लंबी पूछताछ की है. क्योंकि मौत से पहले ओम पुरी काफी लंबे समय तक खालिद के साथ ही रहे थे. खालिद के बयानों के अनुसार खालिद, ओम पुरी के घर उनसे अपनी फिल्म की शूटिंग को लेकर बात करने गुरुवार की शाम को गए थे. पर ओम पुरी उन्हें लेकर नंदिता पुरी के घर गए. क्योंकि वह अपने बेटे इशान से मिलना चाहते थे. जहां नंदिता पुरी और ओम पुरी के बीच काफी गर्मागर्म बहस हुई. फिर बाहर कार में बैठकर ओम पुरी ने अपने बेटे इशान को फोन किया. तो वह किसी पार्टी में था. ओम पुरी ने बाद में कार में बैठकर शराब पी. उसके बाद वह लोग मनोज पाहवा के घर गए. खालिद घर से बाहर कार में बैठे रहे. ओम पुरी अकेले मनोज पाहवा के घर गए थे.

मनोज पाहवा के घर से बाहर निकलने के बाद ओम पुरी ने ही खालिद को बताया कि उनके घर पर किसी से पैसों को लेकर उनकी कहा सुनी हुई. उसके बाद खालिद ने उन्हें उनके घर छोड़ दिया था. सुबह सुबह खालिद को ही सबसे पहले उनकी मौत के बारे में पता चला. क्योंकि रात में ओम पुरी अपना पर्स खालिद की कार में भूल गए थे. इसलिए खालिद ने ओम पुरी के ड्रायवर को इस बात की जानकारी देने के लिए फोन किया था. तब ड्रायवर ने ही उन्हें बताया कि ओम पुरी दरवाजा नहीं खोल रहे हैं.

पुलिस का तर्क यह है कि हो सकता है कि ओम पुरी स्नान करने के बाद किचन में कुछ खाने का सामान लेने गए हों और तभी हार्ट अटैक की वजह से गिरे हो और सिर में चोट लग गयी हो. तो वहीं ओम पुरी के एक करीबी की बात माने तो कुछ दिन पहले ही ओम पुरी अपने घर में गिरे थे, तब उनके सिर में चोट लगी थी. पर नंदिता पुरी इस सच को मानने को तैयार नहीं है. उधर ओम पुरी की पहली पत्नी सीमा कपूर, जो कि उन्हें लेकर अपने निर्देशन में फिल्म ‘मि.कबाड़ी’ बना रही हैं, के अनुसार ओम पुरी से उनका शराब को लेकर झगड़ा हुआ करता था. वह बार बार समझाती थी कि शराब छोड़ दो. लेकिन ओम पुरी ने कुछ दिन पहले ही पूरे शरीर का डाक्टरी चेकअप करवाया था. सब कुछ सही निकला था. तब उन्होंने कहा था कि उन्हे शराब से कुछ नुकसान नही हो रहा. वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं.

ओम पुरी की अधूरी इच्छाएं

इतना ही नहीं अब तो खबर यह भी आ रही है कि ओम पुरी फिल्मों से दूरी बनाकर राजस्थान के झालावार शहर में रहने की योजना बना रहे थे. उन्होंने 2012 में ही झालावार में दो मंजिला मकान खरीदा था, जिसका गृहप्रवेश भी किया था. वह अक्सर अपने इस मकान में जाया करते थे. ओम पुरी के एक मित्र फरहात खान का दावा है कि ओम पुरी को झालावार शहर बहुत पसंद था. दिसंबर 2016 में भी वह अपने इस मकान में गए थे. उन्होंने फरहात खान से कहा था कि वह अपने बुढ़ापे के दिन इसी जगह बिताना चाहते हैं.

इसके अलावा वह अपने बेटे इशान का भी ईलाज करवाना चाहते थे. इस सिलसिले में उन्होंने कुछ डाक्टरों से बात की थी और वह उसे लेकर विदेश जाना चाहते थे, पर यह इच्छा भी अधूरी रह गयी.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं