बौलीवुड के समस्त कलाकारों, फिल्म सर्जकों व तकनीशियनों में से अभिनेता आमिर खान की अपनी एक अलग पहचान है. वह हमेशा स्पष्ट रूप से अपनी बात बिना किसी हिचक के कहते आए हैं. इतना ही नहीं टीवी कार्यक्रम ‘‘सत्यमेव जयते’’ की वजह से आमिर खान की अपनी एक अलग पहचान बनी है. आमिर खान की गिनती ‘मीडिया फ्रेंडली’ कलाकारों में की जाती है. वह जब भी पत्रकारों से मिलते हैं, तो बड़ी बेबाकी से खुलकर बात करते हैं.

अब तक आमिर खान की आदत रही है कि वह अपनी हर फिल्म के प्रदर्शन से कई माह पहले से उस फिल्म को लेकर पत्रकारों से एक बार नहीं कई बार मिलते थे. आमिर खान की आदत रही है कि वह अपनी फिल्म के गानों को एक एक कर कई बार में बाजार में लाते थे. हर गाने को बाजार में लाते समय वह एक कार्यक्रम आयोजित करते थे और उस गाने को पत्रकारों को दिखाकर उस गाने को लेकर पत्रकारों से बात करते थे. इसी तरह वह अपनी फिल्म के हर ट्रेलर को लांच करते समय भी पत्रकारों को ट्रेलर दिखाकर उस ट्रेलर को लेकर बातें करते थे.

लेकिन अचानक आमिर खान ने अपनी इस आदत को हाशिए पर ढकेलते हुए अपनी नई फिल्म ‘‘दंगल’’ के नए ट्रेलर को इंटरनेट, यूट्यूब व सोशल मीडिया पर  रिलीज कर दिया. बिना किसी शोरशराबे के चुपचाप टीवी चैनलों के दफ्तरों में फिल्म ‘दंगल’ का ट्रेलर पहुंचा दिया गया. इस बार ट्रेलर लांच करने के लिए आयोजित कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया और किसी पत्रकार से नहीं मिले. आखिर आमिर खान को इस तरह का कदम उठाने की जरुरत क्यों पड़ी? जबकि आमिर खान ने जुलाई माह में मुंबई के एक पांच सितारा होटल में एक भव्य समारोह का आयोजन कर पत्रकारों की भीड़ के बीच अपनी फिल्म ‘‘दंगल’’ का पोस्टर लांच किया था. उस वक्त आमिर खान ने पत्रकारों से कई घंटे बात की थी.

इस सवाल का जवाब तलाश करते हुए जब हमने आमिर खान के कुछ करीबियों से बात की, तो पता चला कि इन दिनों आमिर खान काफी डरे हुए हैं. आमिर खान को भी एक अदद सफल फिल्म की सख्त जरुरत है. आमिर खान नहीं चाहते कि उनके किसी बयान की वजह से वह विवादों में फंसे, जिसका खामियाजा फिल्म ‘‘दंगल’’ को भुगतना पड़े.

आमिर खान के एक अति नजदीकी सूत्र की माने तो इन दिनों बौलीवुड व पूरे देश में पाक कलाकारों का मुद्दा हावी है. उधर पाकिस्तानी सरकार द्वारा पाक में भारतीय टीवी चैनलों को बैन किए जाने का मुद्दा भी गरमा गया है. तो आमिर खान इस बात से डर गए कि कहीं ट्रेलर लांच में पत्रकारो ने उनसे पाक कलाकारों को बैन करने पर सवाल कर दिया, तो वह क्या जवाब देंगे. उन्होंने जो भी जवाब दिया, उसको लेकर कोई नया विवाद खड़ा हो गया, तो उनकी फिल्म ‘‘दंगल’’ के रिलीज पर सवालिया निशान खड़ा हो जाएगा. इसी डर की वजह से उन्होने ट्रेलर लांच के कार्यक्रम को रद्द कर दिया.

आमिर खान से जुड़े सूत्र कहते हैं कि आमिर खान के लिए ‘दंगल’ बहुत बड़ी फिल्म है और वह इस फिल्म पर किसी भी विवाद की छाया नहीं पड़ने देना चाहते. इसलिए वह पत्रकारों से दूरी बनाकर चल रहे हैं.

असहिष्णुता, राजनीति व सामाजिक सहित हर मुद्दे पर खुलकर राय देने वाले, अभिव्यक्ति की आजादी की बात करने वाले आमिर खान पाक कलाकारों के मसले पर अपनी स्पष्ट राय देने की बजाय छिप क्यों रहे है? सबसे बड़ा सवाल है कि इस तरह आमिर खान पत्रकारों व मीडिया से कब तक मुंह छिपाए रहेंगे?